Friday, November 23, 2007

आउटलुक एक्‍सप्रेस वालो कोई मदद करो, भाईलोग?..

एक मुसीबत में फंसा हूं, दोस्‍तो. किसी के पास मुझे इससे निकालने का सुझाव हो तो प्‍लीज़, सुझाये. मुसीबत क्‍या है? मुसीबत ससुरी यह है कि नॉर्मल ब्राउज़र में अपने जी-मेल की चिट्ठी-पत्री देखने के साथ हम ज़रा थोड़ा-सा और एडवेंचरस हुए, और अपने जी-मेल अकाउंट को अपने आउटलुक एक्‍सप्रेस में भी नत्‍थी करने की कोशिश की.. ठीक? बात समझ में आ रही है ना? अब ये आउटलुक एक्‍सप्रेस, जो हमारे पुराने एमटीएनएन वाली मेल आईडी का डिफ़ॉल्‍ट मेल-बॉक्‍स था, है, वहां फ़ाईल के स्‍क्रॉल डाऊन में ‘आइडेंटिटीज़’ में जाकर ‘एड न्‍यू आइडेंटी’ में अपनी जी-मेल वाली नयी आइडेंटिटी जोड़ी. कुछ और जगहों पर थोड़ा-मोड़ा कन्फिगर करने के बाद अब ‘आइडेंटिटीज़’ से ठीक ऊपर ‘स्विच आइडेंटिटी’ वाले ऑप्‍शन से हम कभी भी पुराने-नये एमटीएनएन या जी-मेल किसी भी आईडी के चयन का मेल-बॉक्‍स खोल सकते हैं. तो यहां तक तो सब बड़ा फ़र्स्‍ट क्‍लास हो गया (अभय मियां की दया से, उनका शुक्रिया) मगर ज़रा आगे जाकर एक नयी, और बड़ी उलझन खड़ी हो गई. और उसका समाधान पूछने पर अभय बाबू ने भी असमर्थता में हाथ ऊपर खड़े कर दिये. अब बंधुवर, आपही में से किसी से ज्ञानदान की उम्‍मीद है.. रोशनी जलायें, दिशा दिखायें.. !

दिक्‍कत क्‍या है? तो दिक्‍कत प्‍यारो यह है कि आउटलुक एक्‍सप्रेस के अपने पुराने एमटीएनएल अकाउंट के जरिये ईनबॉक्‍स में जाकर जब मैं मेल रिसीव करता हूं तब तो वह जो कुछ नया मेल हो उसे रिसीव करने का काम जैसे नॉर्मली करना चाहिए, वैसे करता है, मगर अपने जी-मेल में मेरे घुसने के बाद, जैसे ही मैं सेंड/रिसीव को क्लिक करता हूं, ससुरी, हर मर्तबा, जी-मेल के तहखाने मे उतर चार सौ पचास पुराने मेल डाऊनलोड करना शुरू कर देती है. चलिए, एक बार डाऊनलोड करके अपना खेल खेल ले, तो ज़नाब, वह भी नहीं, हर बार वही खेल क-ख-ग के साथ शुरू होता है. मतलब? मान लीजिए हमारे जी-मेल के अकाउंट में पहले के चार सौ पचास मेल हैं, आउटलुक एक्‍सप्रेस के ईनबॉक्‍स ने जिसमें से दो सौ साठ आलरेडी डाऊनलोड कर लिया है, मगर अगली दफा वह फिर नये सिरे से उन सबको वापस डाऊनलोड करता दिखाती है! हद है!..

तो इस तरह अपने आउटलुक एक्‍सप्रेस के अकांउट से जी-मेल के अपने नये मेल को पाने का तो सवाल ही नहीं, अलबत्‍ता हर बार चार सौ पचास मेल डाऊनलोड करने के जाल में ज़रूर उलझने की मजबूरी बन गयी है. किसी की अक़ल में इस मुसीबत के समाधान की बत्‍ती जल रही है? कि मैं आउटलुक एक्‍सप्रेस के अपने जी-मेल अकाउंट में नया मेल पाऊं, पुराने बाबा आदम वाले पिटारे के बार-बार खुलने की ज़ि‍न्‍नात मजबूरी न हो?.. कोई रास्‍ता दिखाये माय-बाप?

12 comments:

  1. बड़ा ही दिलचस्प मामला है आपका.. क्या आप ये बतायेंगे कि आप आउटलूक का कौन सा वर्सन प्रयोग में ला रहें हैं?? तभी मैं कुछ छानबीन करके आपके प्रश्न का उत्तर ढूंढ सकूंगा..

    ReplyDelete
  2. इहै लोचा हमरे साथ भी हुआ रहा तो हम तो झल्ला के बंदै ही कर दिए रहे!!

    ReplyDelete
  3. जी नमस्कार, मेरे साथ भी एक बार ऎसा हुआ था, आप सभी पुराने e mail डाऊनलोड कर ले जब मेल पुरी तरह से लोड हो जाय तो फ़िर सब ठीक हे, बीच मे बन्द मत करे बर्ना आप को बार बार सभी मेल लोड करने पडेगे,मे कोई स्पेशलित नही हू,अपना तजर्बा लिखा हे

    ReplyDelete
  4. Hello
    I read your post on problem in outlook express in downloading mails
    what you have to first is that go your web mail grail page and in settings you have to enable pop which you have already done but you have not ticked enable pop from now on if you will do that then old mails will not be downloaded .
    if you are still unable to do it let me know

    Rachna

    ReplyDelete
  5. यह समस्‍या मैंने में भी झेली थी।
    काफी झींकने के बाद हल निकला था।
    आपने जीमेल को शायद pop3 प्रोटोकॉल पर सेट किया है। उसे imap के अनुसार सेट कीजिए। सारी सेटिंग जीमेल सैटिंग्‍स में मिल जाएंगी। मेरी समस्‍या तो ऐसे ही सुलझी। उम्‍मीद है आपकी परेशानी भी दूर होगी।

    ReplyDelete
  6. नमस्कार प्रमोद जी, ऐसा लगता है कि आपने जी मेल की सेटिन्ग मे Enable POP for all

    mails कर रखा है, अभी के लिये आप Enable POP for mails that arrive from

    now on करके save कर दीजिये।
    उम्मीद है आपकी समस्या का समाधान हो जायेगा।
    मै कहूँगा कि आप Office Outlook का प्रयोग करें।

    ReplyDelete
  7. मैं आउटलोक इस्तेमाल नहीं करता फिर भी मेरे को दो ऑप्सन सूझ रहे हैं.

    1. अपने जी मेल अकाउंट को ब्राउजर में खोलें. सैटिंग्स में जायें.

    forwarding and POP/IMAP वाले ऑप्सन में जायें.

    और Enable POP for mail that arrives from now on को क्लिक कर दें.

    यदि ना हो तो.

    in google option

    activate POP Download 2. When messages are accessed with POP keep gmail's copy in the inbox

    Now go to outlook account properties.

    go to advance tab and disable

    keep a copy of message on the server.

    Hope this will solve the problem. Else please send a mail to me or talk on phone.

    ReplyDelete
  8. दोस्‍तो, फि‍लहाल लगता तो यही है जैसे मुसीबत का हल निकल गया है.. निकला रचना सिंह, आरसी मिश्रा और काकेश के सुझाये रास्‍तों से.. आप सबों को बहुत-बहुत धन्‍यवाद, दोस्‍तो!

    ReplyDelete
  9. Go to Gmail>settings>Forwarding and POP IMAP>POP Download>

    then select second tab: Enable POP for mail that arrives from now

    और सेव कीजिएबस लीजिये आपकी उलझन हमेशा के लिए ख़त्म हो गयी,

    ReplyDelete
  10. वैसे भी, आउटलुक में यह समस्या है ही कि वो एक बार जब जीमेल से मेल डाउनलोड करना चालू करता है तो बीच में किसी वजह से ब्रेक होने पर नए सिरे से वह फिर से पूरा का पूरा मेल डाउनलोड करता है. थंडरबर्ड में यह समस्या नहीं है. यदि 10 में से 2 डाउनलो़ड हुए हैं, तो अगली दफा ये बाकी का 8 ही डाउनलोड करेगा.

    अनुशंसा - एक बार थंडरबर्ड का इस्तेमाल जीमेल के लिए कर देखें :)

    ReplyDelete
  11. एक धन्यवाद के अधिकारी तो हम भी हैं.. इस मुश्किल को जनता के बीच ले जाने की सलाह भी तो हमी ने दी थी!

    ReplyDelete
  12. सबको धन्‍यवाद भाई.. रतलाम के स्‍वामीजी को.. अभय निर्मलदामीजी को.. बधाई-बधाई.. आपने खरीदी रसमलाई.. हमने खायी..

    ReplyDelete