Thursday, December 13, 2007

माधुरी लौटी वह नहीं लौटा..

माधुरी घर लौट आई थी. दूसरे दिन गली के छोर पर माधुरी के स्‍वागत में ‘आजा नचले’ का गाना स्‍पीकर पर नहीं बज रहा था, लेकिन अपने अचानक भाग जाने पर माधुरी गली को जिस शर्म, खीझ और गुस्‍से में भरा छोड़ गई थी, वह उसके उसी तरह अचानक लौट आने पर नदारद था. माधुरी के भाई प्रकाश ने दोस्‍तों के बीच कांपते हुए कहा था माधुरी और उसका यार हाथ आ जायें तो वह अपने हाथों तेल डालकर उन्‍हें आग के हवाले कर देगा! अब जबकि माधुरी लौट आई थी प्रकाश ने तेल और माचिस का एक बार जिक्र भी नहीं किया था. हाथ का रिमोट हाथ में धरे माधुरी के पिता टीवी के सामने जकड़े बैठे रहे जैसे टीवी बंद करना उनके लिए नामुमकिन हो गया हो, और टीवी के बंद करते ही घर में कोई भयानक विस्‍फोट होगा और सबकुछ चिथड़े-चिथड़े कर देगा. जबकि उस रात या उसके बादवाली सुबह भी ऐसा कुछ नहीं हुआ. भीतर के कमरे में माधुरी की मां अलबत्‍ता रोने लगी मानो गांव किसी नज़दीकी रिश्‍तेदार की लंबी बीमारी के बाद मरने की अभी-अभी खबर पायी हो. पलंग के सिरहाने मां से ज़रा दूर माधुरी रोयी नहीं, चुपचाप सिर झुकाये बैठी रही. दरवाज़े के परदे से लगे मीनाक्षी और रजत बड़ी बहन को खौफ़ और हैरत में भरे तकते रहे. मीनाक्षी के लिए विश्‍वास करना मुश्किल था कि इतने पर भी दीदी ज़िंदा है. घर में बैठे रहना असंभव हो जाने पर प्रकाश एकदम-से उठकर बाहर चला गया.

इस तस्‍वीर की सन्‍न कर देनेवाली ख़ामोशी से अलग माधुरी के ‘यार’ के घर की तस्‍वीर ज़रा अलहदा थी. बहुत ज्यादा शोर हल्‍ला-गुल्‍ला था. जान लेने की बातें हो रही थीं. बद्दुआ उछाले जा रहे थे. ईश्‍वर को कोसा जा रहा था जिसने उस नीच लड़की की नहीं, सड़क दुर्घटना में उनके बेटे को लील लिया था.

5 comments:

  1. सामाजिक विडंबना!!

    ReplyDelete
  2. बहुत अच्छी कहानी है ।
    घुघूती बासूती

    ReplyDelete
  3. kuchh adhoora sa hai kahani me twist nahi hai.......

    lekin jitna hai achchha hai keep it up

    ReplyDelete
  4. अच्छी कहानी, पर क्या लड़कियों को इतनी आसानी से वापिस घर में आने दिया जाता है।

    ReplyDelete
  5. Thanks, Tapashwini, i'll keep it up.
    @नीलिमा, भई, नहीं आने दिया जाता होगा लड़कियों को इतनी आसानी से वापिस घर.. यहां आने दिया गया है.. आने देने पर दुनिया की क्‍या तस्‍वीर दिखती है, यहां बस उसकी एक छोटी सी तस्‍वीर है..

    ReplyDelete