Saturday, November 15, 2008

दुनिया को कैसे देखें के कुछ लिंक्‍स..

दुनिया को कैसे देखें? ऐसे देखकर सोच में पड़े फिर जाने क्‍या देखने की सोचते रहें? या क्रिस जॉर्डन की तरह, अमरीकी जमाखोरी, कन्ज़्यूमरियाये हहाये खूंखारी को कलाकारी में बदलकर देखने लगें? और अदबदाकर बोतलबंद पानी पियें, फिर यह भी जान जायें कि कैसे वह पर्यावरण की जय-जय शिवशंकर कर रहा है?

6 comments:

  1. लाजवाब पोस्ट,अंदाज अपने-अपने/

    ReplyDelete
  2. आनन्दित और भयाक्रांत करते चित्र,इतनी रंग बेरंगी दुनियाँ पहली बार देखी....लेकिन हमारी आँखें खुली नहीं जस की तस हैं....सब ठाठ पड़ा रह जायेगा जब लाद चलेगा बंजारा....कब तक खैर मनाएगी ये दुनियाँ और हाड़ मांस का इंसान।

    ReplyDelete
  3. ओह ! कैसे ? और कितना देखें ?

    ReplyDelete
  4. Awesome!

    The way you assimilate things is just amazing.

    ReplyDelete