Friday, December 5, 2008

खींचके दे एक हइसा..

दक्षिण मुंबई के मुंह पर एक सीधे-सीधे. एक नज़र आप भी मारें.. जय विनय सीतापति..

3 comments:

  1. सही कहना है ,विनयजी का ।

    ReplyDelete

  2. And so far, here’s what I’ve been hearing: “Congress weak, Muslims guilty, India sucks”.
    सही है, सिंह साहब.. वी नीड टू रि-थिंक !
    दिस कंट्री हैज़ ओनली बीन रि-थिंकिंग, आल दीज़ ईयर्स !
    नाऊ, लेट देम रि-थिंक !

    ReplyDelete
  3. सही लिखा - लिन्क के लिये शुक्रिया

    ReplyDelete