Wednesday, April 8, 2009

एक्‍सपेरीमेंटल..

एक्‍स. पेरी. पेरिफ़ेरल? पेरिलीयस? व्‍हाई एक्‍स? एक्‍स व्‍हाई क्‍यों नहीं? इसलिए कि “x” के पीछे “y” को जगह देना पहले के बने-बनाये नियम के सहूलियती खांचे में खड़ा होना होगा? अरे, खांचे के तत्‍वों को आगे-पीछे कर देना क्‍या दूसरे तरीके की सहूलियत नहीं होगी? हो सकती है. शायद. माइट बी. बट देन इट विल बी एक्‍सपेरिमेंटल. स्‍ट्रेंज लॉजिक दॉ. पेरी, नो, वेरी एक्‍स्‍ट्रीम. Xxxtremmme! नाऊ हैप्‍पी? Xappy!

देयर इज़ समथिंग रॉंग समव्‍ह्येर. समथिंग इज़ अमिस. व्‍हॉट, व्‍हॉट, एक्‍स फैक्‍टर? पेरीमच पॉसिबल. वेल, वी ऑल नो एक्‍स इज़ ऑलवेज़ द क्रूशल कनेक्‍शन. दॉ इट माइट बी ‘एक्‍स’ सो व्‍हॉट! निक हार्नबी की ‘हाई फिडेलिटी’ के इतने पता नहीं कितने पेज़ेस (इन फैक्‍ट 323 पेज़ेस) एक्‍सों का हिसाब-किताब समझने की कसरत ही तो है? ओह एक्‍स. देन फिर आह, एक्‍स. वेरी फ़न्‍नी. ऑर, पेरी पनी. पैरी पैणा नहीं. दैट वुड बी गिविंग इन टू टू मच. Xxxtremme in submissiveness. लेट एक्‍सेज़ स्‍टे एज़ एक्‍स. नथिंग लेस, नॉर मोर. इट्स यूअर दिल दैट मांगे मोर, नॉट एक्‍सेज़ हू आर आस्किंग एनीथिंग, आर दे? नो, दे आर नॉट. ओह, पेरीमेंटल! ऑर जस्‍ट मेंटल?

3 comments:

  1. अच्छी विवेचना प्रस्तुत की है।
    बधायी।

    ReplyDelete
  2. liked the sketch and successfully ignored the rambling after reading. Xmart :)

    ReplyDelete