Friday, August 28, 2009

सूखे की हरियालियां..

3 comments:

  1. अजी, वाकई कुर्सी से गिर पड़े. :)

    ReplyDelete
  2. आह..! एक भूली बिसरी याद से मिलवा दिया आपने तो.. विवेक ओबेरॉय..

    ReplyDelete
  3. बिल्‍कुल गिर पड़े हम तो :))

    ReplyDelete