Monday, August 31, 2009

मुबारक, मुबारक..



(स्‍केच को बड़ाकार देखने के लिए क्लिकियाकर अलग खिड़की में खोलें)

6 comments:

  1. जय हो! क्या स्केचियाये हैं!

    ReplyDelete
  2. मज्जा ही आ गया.. खूब खंगाले है..

    ReplyDelete
  3. स्केचवा त गजबै क बनाये हया भैया -----बहुत बढ़िया ॥
    हेमन्त कुमार

    ReplyDelete