Sunday, October 17, 2010

बेबी क्‍यू..



चित्र को बड़ाकार देखने के लिए उसपर चटका लगाकर उसे एक नई खिड़की में खोलें..

..और हां, मालूम है फिनिशिंग नहीं है, मगर वह मुझी में कौन-सी है? और अंतत: यह बेबीवर्ल्‍ड नहीं है? और यूं भी सब सोने पर सुहागा यहीं हो जाएगा तो चारकोल में चिचरियां छुपाने की तब ज़रुरत कैसे पड़ेगी? हद है.

(यह खास बेबी पंछी कुमारी और नितिन की बेबी पाखी प्‍यारी के लिए)

1 comment:

  1. बहुत ही सुन्दर चित्र, दोनों ही।

    ReplyDelete