Thursday, June 7, 2012

धूल और किताबें..

वास्‍तविकता की बेहयाई पर रंगों की चिनाई की कुछ तस्‍वीरें..













3 comments:

  1. तस्वीरों की ज़ुबानी किताबों की संगत.....! अच्छा और स्वीकार्य !!!

    ReplyDelete
  2. pahle mere dimag ni ktab ko phanka...ab dhool phank rahi hai....bechari kitab

    ReplyDelete